A to E Beawar News Latest

निकाला जुलूस, सौपा ज्ञापन, जताया रोष

स्वाभिमान जागरण मंच के बैनर तले शुक्रवार को जुलूस निकालकर उपखंड अधिकारी जे.एस.संधू को राज्यपाल के नाम ज्ञापन सौपा। इसमें गलत जानकारी देकर भ्रमित करने वालों पर कार्रवाई करने एवं इस मामले की निष्पक्ष जांच करवाने की मांग की। जुलूस से पहले मिशन ग्राउंड में एक सभा का आयोजन किया गया। यहां से जुलूस शुरु हुआ। जो विभिन्न मार्गो से होते हुए उपखंड कार्यालय पहुंचा। इस दौरान मुख्य चौराहा पर पुलिस बल तैनात रहा। मिशन ग्राउंड में आयोजित सभा में विधायक शंकरसिंह रावत ने कहा कि कोई व्यक्ति किसी धर्म को अपना सकता है। इससे समाज को जोडऩा गलत है एवं समाज का अपमान है। जो लोग इस तरह की भ्रामक जानकारी फैला रहे है। इस तरह के लोगों की जांच होनी चाहिए। इस अवसर राजस्थान रावत राजपूत महासभा के अध्यक्ष भगवानङ्क्षसह रावत ने कहा कि काठात व मेरात रावत समाज की ही गौत्र है। यह पृथ्वीराज चौहान के वंशज है। इन्हें चीता व बरड़ के नाम से जाने जाते है। इनमें कई गौत्र आती है। इन सभी गौत्र की जाति रावत है। इस दौरान सभा को पृथ्वीसिंह भोजपुरा, अभिषेकसिंह, कैलाश मूंदड़ा, देवेन्द्र शर्मा सहित अन्य ने संबोधित किया। यहां से जुलूस रवाना हुआ। यह जुलूस भगत चौराहा, मुख्य डाकघर कार्यालय के सामने होते हुए उपखंड अधिकारी कार्यालय पहुंचा। यहां पर विविध संगठनों के पदाधिकारियों ने उपखंड अधिकारी को राज्यपाल को ज्ञापन सौपा। राजस्थान काठात मेहरात महासभा के अध्यक्ष छोटूसिंह ने ज्ञापन को पढ़कर सुनाया। उन्होंने गत दिनों दिए गए ज्ञापन में काठात मेहरात समाज को मुस्लिम समाज मानने वाला बताने पर रोष जताया। इस मामले की जांच करवाने की मांग की। ज्ञापन देने वालों में सभापति नरेश कनौजिया, पूर्व मंडल अध्यक्ष भाजपा दिनेश कटारिया, पूर्व प्रधान प्रभूङ्क्षसह पंवार, विहिप के नितेश गोयल, सुरेश वैष्णव, पूर्व उपसभापति सुनिल मूंदडा, जयसिंह राजपुरोहित, रोहित रावत, पार्षद सुरेन्द्र सोनी, कुलदीप बोहरा, हेमन्त कुमावत, अंगदराम अजमेरा, पार्षद कमला दगदी, बीना झंवर, प्रीति शर्मा, माया यादव, गीता फुलवारी, पूर्व गणपतसिंह, डाउसिंह, धर्मेन्द्रसिंह लोटियाना, विक्रांतसिंह सहित अन्य मौजूद रहे।

News Source

Related posts

जायसवाल ऑटो एंड सर्विस सेंटर

Rakesh Jain

परिषद सभापति ने जलदाय महकमे से कहा, सड़कों की कराएं मरम्मत

Beawar Plus

तीन शिविर बीते, लेकिन परिषद जारी नहीं कर सकी एक भी पट्टा

Rakesh Jain